PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

आपका अपना दोस्त

PRANAV  BHARDWAJ

दोस्तो,
        मेरा मानना है कि हमारे प्यारे समाज/ महान देश ने हमें इतना कुछ दिया है, जिसको शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता …………..तो हमारी तरफ से भी हमारे प्यारे समाज/महान देश को Return Gift  तो बनता ही है।
       मेरी हमेशा से यही कोशिश रही की मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता पमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है|

www.motivatemyindia.com (आओ अपना आज सँवारें) ……

       मेरी यह Website मेरे सभी शुभचिंतकों / सम्मानित पाठकों/ सभी दोस्तों/ मेरे प्यारे समाज और प्राण से प्यारे मेरे महान देश को मेरी तरफ से एक छोटी सी सप्रेम भेंट है।

दोस्तो,
       मुझे पूरा यकीन है की मेरी यह website आपके अपने सपनों को साकार करने में एक प्रभावी और अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी । इसकी मदद से आप वो सब कुछ पा लेंगे, जो आप पाना चाहते हैं बल्कि उससे भी कहीं ज्यादा

       उम्मीद है आप सभी का प्यार, स्नेह व आशीष मुझे हमेशा प्राप्त होता रहेगा ।

 


My Thinking (मेरी सोच)


 

दोस्तो,
       मेरा मानना है कि, हम सभी के अन्दर एक चिंगारी होती है, जो हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है, एक जूनून होता है, आँखों में कुछ करने के, कुछ पाने के सपने होते हैं, कुछ कर गुजरने की चाहत होती है ।

       पर समय के साथ – साथ ये सब चीजें धुंधली होती जाती हैं, हम परिस्थितियों के सामने आत्म समर्पण (surrender) कर देते हैं और अपनी परिस्थितियों को ही अपना भाग्य मानकर, हम अपनी जिंदगी को जीने लगते हैं (सही कहूँ तो जीवन का समय काटते हैं…..)।  

       मेरी इन बातों को ठीक से समझने के लिए हमें अपने बचपन को याद करना होगा……………

दोस्तो,
       जब हम अपने बचपन में थे तो हमारे माँ-पापा या घर के बड़े लोग हमको सिखाते थे/बताते थे कि बेटा/बेटी बड़े होकर आपको डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना है और ये बातें हमको दिन में कई बार समझाई जाती थी . जब भी घर पर कोई मेहमान आता तो हमसे पूछा जाता कि                   ………….बेटा/बेटी बड़े होकर क्या बनोगे?

      और हम बड़े इठला के और ख़ुशी के साथ वो ही रटा रटाया जबाब देते ।

      घर के सभी लोग बहुत खुश होते।  वो हमारे अन्दर अपने सपने सच करने की हसरत पालते (वो ये सोचते थे कि जो मैं नहीं कर पाया/यी वो मेरा बेटा/बेटी जरुर करेगा/गी ।  मैं अपने बच्चों के सहारे अपने सब सपने सच कर लूँगा/गी)

      लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया और जब हम 10th ya 12th में आये हमारे सपने केवल सपने ही रह जाते हैं  ।   

दोस्तों,

ऐसा क्या हुआ ?

      कि जब हम छोटे थे तो वो सब चीजें हमें और हमारे घरवालों को बहुत आसान  लगती थी लेकिन जब हम उन चीजों को पाने के योग्य हुए तो वही आसान सी चीजें हमें नामुमकिन लगने लगी ।

अब हम उनको पाने के बजाय अपने आप को समझाने लगे……………

  • अरे, मेरा तो नसीब ही ख़राब है ।
  • डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना बड़े लोगों की बात होती है ।
  • मैं तो इतना योग्य भी नहीं ।   
  • भाई  हमारे घर से तो आज तक कोई इतना बड़ा न बना तो मैं कैसे???????
  • और न जाने कितने अनगिनत बहाने……………….

दोस्तों,
      ये सोचने वाली बात है की आखिर ऐसा क्या हुआ कि ………

  • हमारे सपने हमसे काफी बड़े हो गये?
  • हम आगे बढ़ने के बजाय अपने आप को समझाने लगे?
  • वो कौन सी वजह रही जिन्होंने हमें खुद में ही कमजोर बना दिया और हमें ये मानने को विवश कर दिया कि डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना तुम्हारे बस की बात नहीं.
  • बेटा/ बेटी तुमसे न हो पायेगा ।
  • और हम और हमारे घरवाले ये मान बैठे की यदि हम थोड़ा बहुत पढ़ कर कोई प्राइवेट नौकरी (private job) कर लें, और इस महगाई के ज़माने में अपना घर चला लें  ……………….हमारे लिए वो ही काफी है ।   

दोस्तो,
       इसका केवल और केवल एक ही कारण है कि…………..

आत्म विश्वास की कमी (lack of Self confidence)

दोस्तो,
       ये आपकी ही नहीं बल्कि हमारे समाज /देश के लाखों/ करोणों लोगों की सबसे बड़ी समस्या है । इसके कारण हमारे देश को दिन प्रति दिन कितनी भारी क्षति हो रही है इसकी कल्पना करना भी मुश्किल है । 

 


My Efforts (मेरी कोशिश)


 

दोस्तो,
       मेरी हमेशा से यही कोशिश रही है कि, मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (creative & positive change) आ सके। मैं हर वक़्त इसी जुनून में लगा रहता ।   

दोस्तो,
       आज मुझे आपको ये बताते हुए अत्यंत ख़ुशी हो रही है, कि मैंने इस समस्या ( lack of self confidence ) के समाधान की दिशा में दो छोटे और सार्थक प्रयास किये हैं………………… 

 

  •  www.motivatemyindia.com (आओ अपना आज सँवारें)                   
  • Free motivational seminar

 


About My career


 

  • I have started my career with a reputed collage in Delhi/NCR- worked as Manager Administration.
  • Now I am associated with a reputed CBSC school as a Manager Administration and a Teacher.

                (I have decided to start working with a school because I want to learn more and more about life and school is the Best place where I can learn this art)

 

       Along with this I am working on a good idea. I will share it…….very soon.

       For hint…………. I want to say only this……..that my idea is directly associated with social welfare.

 


 My Educational Background


 

दोस्तों,
       मेरा मानना है कि यदि हम जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो हमें हर रोज सीखने के लिए तैयार रहना होगा और इसी सोच के साथ मैं हर दिन, हर पल कुछ नया सीखने की कोशिश करता रहता हूँ ।

        MY EDUCATIONAL QUALIFICATION :- 

  • ABES Eng. College (Ghaziabad) affiliated UPTU  से MBA (2010-12)
  • Rohel Khand University (Bareilly) से Graduation (B.Com.)
  • Class 12 तक की पढाई अपने  home-town Moradabad से की है |

 


My Greetings (मेरी शुभकामनायें)


दोस्तो,
       आपका प्यार और अपनापन मेरे लिए अमूल्य (वेशकीमती) है।
       प्रभु से यही प्रार्थना है कि, आप अपनी अनमोल जिंदगी के हर पल को पूरी प्रसन्नता और आनंद के साथ जियें।

आपके हर पल की खुशियों का आकांक्षी………………...

आपका अपना दोस्त

प्रणव भारद्वाज