PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

ameer
Inspirational StoryMaan Ki BaatSelf Improvment

अमीर : कैसे बनें ???

By on February 26th, 2017

 

अमीर : कैसे बनें ???

How to Become Rich ???

 

दोस्तो,

       किसी ने सच ही कहा है कि, गरीबी में जन्म लेना बुरी बात नहीं है, लेकिन अपनी पूरी जिंदगी गरीबी में ही बिता देना : यह बहुत बुरी बात है !

       यह सच है कि, हमारा जन्म अमीर (rich) माँ-बाप के घर में होगा या गरीब (poor) : इस पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं है, लेकिन हम अपना जीवन गरीबी में जियेंगे या अमीरी में यह पूरी तरह से हमारे अपने हाथ में है !

अब बड़ा सवाल यह उठता है कि, अमीर कैसे बना जाए ???

ऐसा क्या काम करें कि, हम भी अमीर बन जाएँ ???

दोस्तो,

       आज मैं, आपके साथ एक सच्ची घटना share करने जा रहा हूँ : जिसे पढ़कर और अपने जीवन में अपना कर : आप न सिर्फ गरीबी के सारे बंधन तोड़ देंगे, बल्कि अमीरी को भी बहुत तेजी से अपनी तरफ आकर्षित करेंगे !

       विनीत और राहुल शहर के एक प्रतिष्ठित college से B.Tech कर रहे थे ! दोनों ही पढ़ने में, न तो बहुत अधिक होश्यार (Brilliant) थे और न ही बहुत कमजोर ! 4 साल की मेहनत के बाद, अब उनकी पढाई पूरी हो चुकी थी और दोनों नौकरी (Service) के लिए भाग-दौड़ करने लगे !

       विनीत : जो यह सोचता था कि, चाहे मुझे कैसी भी नौकरी मिले : मैं ख़ुशी-ख़ुशी उस नौकरी को कर लुंगा ! पहले उस ने एक company में Job की ! जल्दी ही उसे दूसरी नौकरी मिल गयी ! चूँकि नौकरी विनीत की योग्यतानुसार नहीं थी : इसीलिए शुरू में उसका, उस job में मन नहीं लगा, लेकिन वो यह सोचकर नौकरी करने लगा कि, बेरोजगारी (unemployment) बहुत ज्यादा है : आज के समय में नौकरी मिलना बहुत मुश्किल हो गया है, तो जैसी नौकरी मिल गयी है, कर लेते हैं : वैसे भी जीवन जीना है तो नौकरी तो करनी ही पड़ेगी ! धीरे-धीरे सब सही हो जाएगा !!!

       जब भी उसे कोई परेशानी होती, तो वो अपने आप को दिलासा देता कि, भाई ! नौकरी के नौ काम होते हैं और दसवां काम जी हुजूरी ! वो उस job से खुश नहीं था, लेकिन क्यूंकि उसकी सोच नौकरी तक ही सीमित थी : इसीलिए वो नौकरी करता रहा ! धीरे-धीरे समय गुजरने लगा और वो अपनी नौकरी में मस्त हो गया !

       उधर राहुल : जो यह सोचता था कि, यदि मुझे अच्छी नौकरी मिली तभी मैं नौकरी करूँगा !  यदि नहीं मिली, तो कोई बात नहीं मैं स्वयं में इतना योग्य हूँ कि कुछ न कुछ तो अच्छा कर ही लूँगा ! उसको स्वयं पर विश्वास था ! उसने नौकरी के लिए try किया, लेकिन काफी कोशिश के बाद भी उसे उसकी मनचाही नौकरी नहीं मिली ! जो job उसको मिली, उसमें उसका मन नहीं लगा ! उसने सोचा कि यदि मैं, ऐसी नौकरी कर भी लूँगा तो क्या मैं खुश रह पाउँगा : नहीं ! बिलकुल भी नहीं !!!

अब उसने अपने मन से नौकरी करने का ख़याल ही निकाल दिया !

     उसने मेहनत से M.Tech किया ! उसने देखा कि, उसके शहर में कोई अच्छा Coaching Institute नहीं है ! उसने सोचा कि यदि वो इस दिशा सार्थक प्रयास करे, तो न सिर्फ उसके शहर के बच्चों को coaching के लिए एक बढ़िया platform मिल जाएगा बल्कि वो स्वयं भी अपना जीवन अच्छे से बिता लेगा !

उसने अपने Basic Concept पर काम किया और 11 & 12 के बच्चों को coaching देना शुरु कर दिया !

उसके इस निर्णय से उसके घरवाले बहुत नाराज हुए ! उन्होंने कहा कि…..

  • यदि तुम्हें, यही काम करना था तो तुमने इतनी पढाई क्यूँ की ???
  • देखो ! तुम्हारे साथ का विनीत शहर में नौकरी कर रहा है और तुम यहाँ बच्चों को पढ़ा रहे हो ??? तुम भी शहर जाओ और जैसी भी नौकरी मिले कर लो ! यहाँ कुछ नहीं रखा !!!
  • पहले तुमने काफी समय अपनी पढाई में लगा दिया और अब ये सब !!!
  • लोग पूछते हैं कि आपका बेटा क्या कर रहा है – तो हम उनको क्या बताएं ??? दुनिया के कितने लड़के शहर में नौकरी कर रहे हैं, और तुम हो कि पूरी योग्यता के बाद भी नौकरी नहीं कर पा रहे !!!
  • ठीक है, जो करना है करो : हमसे किसी तरह की कोई उम्मीद न करो !!!
  • और भी न जाने क्या क्या ???

राहुल ने तरह तरह के ताने सुने ! उसकी बहुत जग हंसाई भी हुई ! बहुत मुश्किलों का सामना किया लेकिन वो अपने लक्ष्य से तस से मस न हुआ !!!

       उसने अपना काम 2 बच्चों को पढ़ाने से शुरू किया ! धीरे-धीरे बच्चे बढ़ने लगे ! अब उसने अपने Institute में और Subject के योग्य Teachers को नौकरी पर रख लिया ! और धीरे-धीरे उसका coaching institute बहुत मशहूर हो गया ! अब वो competition exams की तैयारी कराने लगा !

       उसके batch से बहुत अच्छे result निकलने लगे ! वो बहुत तेजी से आगे बढ़ने लगा ! उसने अन्य शहरों में भी अपने coaching institute खोल दिए ! आज उसके 15 शहरों में coaching institute हैं ! उसकी आमंदनी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आज वो प्रतिवर्ष 50 लाख से अधिक income tax सरकार के खाते में जमा करता है !

उसने अपना काम 2007 से शुरू किया था ! और आज वो सफलता के शीर्ष पर है !

       आज वो अपनी जिंदगी को बहुत शान के साथ जी रहा है ! जीवन में वो सब कुछ कर रहा है, जो वो करना चाहता है ! वो वर्ष में एक बार विदेश घूमने जाता है ! आज शहर में उसकी एक बढ़िया कोठी है ! आज उसकी गिनती, शहर के प्रतिष्ठित (respected) लोगों में की जाती है !

       वहीँ उसका दोस्त विनीत आज भी नौकरी कर रहा है ! और हर वक़्त एक डर के साए में जी रहा है कि कहीं उसकी नौकरी छूट गयी तो ! वो चाह कर भी एक खुश-हाल जीवन नहीं जी पा रहा है ! शहर के अंधाधुंध खर्चे और वही सीमित Salary : उसकी कोशिश यही रहती ही कि बस कैसे भी यह समय गुजर जाए !!!

देखा दोस्तो,

       हमारी अपनी सोच ही हमें अमीर बनाती है और गरीब भी ! विनीत आज बिलकुल वैसा ही जीवन जी रहा है : जैसा वो सोचता था और राहुल वैसा : जैसा वो सोचता था !

       यदि आप भी अमीर बनना चाहते हैं, तो आपको मेरी यही सलाह है कि, आप वो कीजिए जो करना आपको सबसे अच्छा लगता है और जिसमें आपको यकीन है ! अपने काम के बारे में सोचिये और अपने मन में अपने और अपने काम के प्रति सम्मान का भाव रखते हुए आगे बढ़िए !

       जब आप इस तरह डूबकर, पूरे तन मन और धन के साथ अपने काम को करेंगे तो आपको परमात्मा का भी आशीर्वाद मिलेगा क्यूंकि परमात्मा उसका ही साथ देता है, जो अपना साथ स्वयं देता है ! और जब आपके ऊपर उस सबसे बड़ी शक्ति का हाथ होगा, तो आप इतनी बड़ी सफलता प्राप्त  करेंगे, जितना की आपने कभी अपने सपने (dream) में भी नहीं सोचा होगा !

दोस्तो,

       इतिहास उठा कर देख लीजिए, सफलता के शिखर पर आज तक वही लोग पंहुचे हैं, जो जिद्दी होते हैं ! जो Risk लेने से नहीं घबराते ! जो अपने मन की सुनते हैं और अपनी धुन के पक्के होते हैं !

       और रही बात Safe side देखने वाले लोगों की, तो वो वहीँ के वहीँ रह जाते हैं ! वो काफी कुछ करना चाहते हैं : वो बहुत कुछ पाना भी चाहते हैं लेकिन उनकी सारी हसरतें उनके डर  से आगे ही नहीं निकल पाती और इसी वजह से वो अपनी पूरी जिंदगी शिकायतों और अभावों में गुजार देते हैं और जब समय निकल जाता है, तो मन ही मन यह सोचते हैं कि – काश !!! मैंने भी जीवन में Risk ले लिया होता !!!

       यही कारण है कि आज दुनिया की 95% दौलत 5 % अमीर लोगों के हाथ में है और शेष 5 % दौलत में दुनिया के सभी 95 % लोग अपनी जिंदगी बिता रहे हैं !!!

       तो आइये ! स्वयं से बात कीजिए और एक रास्ता चुनकर पूरी इमानदारी के साथ, निडरता से  उस पर आगे बढिए और स्वयं को अमीर बनते हुए देखिये !!!

 

( दोस्तो, मैं लोगों की निजता का सम्मान करता हूँ, इसीलिए मैंने इस कहानी प्रयुक्त लोगों  के नाम और  इस coaching institute का नाम नहीं लिखा है ! मेरा  मकसद अच्छे लोगों के जीवन से, लोगों को प्रेरित करना है न कि किसी व्यक्ति की निजता में दखल देना !!! )

 

आपके अमीर जीवन का प्रार्थी……

आपका अपना दोस्त

Pranav Kumar   


खुला आमंत्रण


 

दोस्तो,
       यदि, आपके पास Hindi/English या Hinglish में कोई  Motivational Story, Article, कविता, Idea, Essay, Real life experience या कोई जानकारी  या  कुछ  भी ऐसा जिसे पढ़कर कुछ अच्छी सीख मिले ( चाहें वो आपके अपने मन से वयक्त किये गए हों या आपने कहीं पढ़े हों )…………..

      जिसे आप हमसे share करना चाहते हैं ।

      तो, आप अपना कंटेंट (content) मुझे  info@motivatemyindia.com  पर mail कर सकते हैं  आपसे अनुरोध है कि (content) के साथ अपना एक फोटो भी भेजें।

      पसंद आने पर आपका कंटेंट जल्दी ही आपकी फोटो के साथ पर आपकी अपनी website : www.motivatemyindia.com प्रकाशित कर दिया जाएगा ।

धन्यवाद!!

 

TAGS
RELATED POSTS

4 Comments on अमीर : कैसे बनें ???

Pranav Bhardwaj (Author) said : administrator Report 3 months ago

thanks jain bhai pls. keep in touch with my website.  

Nikhil Jain said : Guest Report 4 months ago

जो हम चाहते है, अगर वह हमें नहीं मिलता तो खुद ही क्यों न वह कर ले जो हमे चाहिए? Interest जिस चीज में है, अगर वैसी Job न सही, तो अपना ही business..... और अपना काम अपना ही होता है...... बहुत ही बढ़िया story,

Pranav Bhardwaj (Author) said : administrator Report 4 months ago

thanks for appriciating my effort. pls. keep in touch with my website. thanks

Jamshed Azmi said : Guest Report 4 months ago

भाई, आपने अमीर बनने का बहुत अच्‍छा उपाय और मोटीवेशन साझा किया है। लोगों का इस पोस्‍ट से अच्‍छा मार्गदर्शन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked