PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

badi masakkat hai
Maan Ki BaatSelf Improvment

सही निर्णय : कैसे करें ???

By on May 1st, 2016

 

सही निर्णय : कैसे करें ???

 

दोस्तो,

    प्रत्येक इंसान को अपने जीवन में पल, प्रति-पल निर्णय करने होते हैं ।

    निर्णय करना / निर्णय लेना  हमारे जीवन का अभिन्न और अनिवार्य कार्य है । कुछ निर्णय ऐसे होते हैं, जो कम महत्वपूर्ण होते हैं और जिनका प्रभाव काफी सीमित या कम समय के लिए होता है, जबकि जीवन में कुछ ऐसे महत्वपूर्ण निर्णय लेने होते हैं जिनका प्रभाव बहुत व्यापक होता है, और हमारी पूरी जिन्दगी को प्रभावित करता है

दोस्तो,

निर्णय – उचित निर्णय करना  किसी भी व्यक्ति के लिए आसान कार्य नहीं होता  (चाहे व्यक्ति की उम्र कितनी भी क्यों न हो ???) । यह एक कला है ।

      ऐसा देखा गया है कि, अक्सर लोग निर्णय लेने में काफी समय लगा देते हैं, या जल्दबाजी में गलत निर्णय ले लेते हैं या वो दुविधा में ही रहते हैं और निर्णय ले ही नहीं पाते ।

अब प्रश्न यह उठता है कि….  

उचित निर्णय कैसे लें ???

दोस्तो,

   जब भी हम कोई निर्णय लेना चाहते हैं, तो हमें दो तरह की काल्पनिक चिंताओं का सामना करना पड़ता है :-

  • जो हमने पाया है – उसको खोने का डर !
  • जो हमें प्राप्त होने वाला है – उसको न पाने का डर !

         मतलब, या तो इस बात का डर कि हमने आज तक जो पाया है, कहीं हम वो खो न दें, या हमें भविष्य में जो मिलने वाला है – उसको न पाने का डर (भविष्य की चिंता)

         आइये, इस महत्वपूर्ण बात को एक उदाहरण के द्वारा समझने की कोशिश करते हैं…..

         एक व्यक्ति जिसका नाम अरविन्द है ।  वह एक Private Company में Clerk का काम करता है, पर वो मन ही मन Business करने के बारे में सोचता है ।  वह सोचता है की आने वाले समय में वह एक कपडे का Show-Room खोलेगा और एक आज़ाद व शानदार जिंदगी जियेगा ।

         जैसे ही अरविन्द Business के बारे में कोई निर्णय लेना चाहता है उसके सामने दो काल्पनिक समस्याएँ आ जाती है…..

वह सोचता है…..

  • अगर, मैंने Business शुरू किया – तो मुझे, अपनी इस नौकरी को छोड़ना ही होगा (मतलब अरविन्द के पास है, उसको खोने का डर ) और अगर नौकरी छोड़ दी तो जीवन कैसे जीया जाएगा ???
  • अगर मेरा Business नहीं चल पाया तो – फिर मैं क्या करूँगा??? (अर्थात् जो मिलने वाला है, उसको न पाने का डर)

  इसी डर में वो कोई भी निर्णय नहीं ले पाता है और उसी कंपनी में Clerk की नौकरी करता रहता है ।

  वो इसी दुविधा में रहता है कि Business शुरू करूँ या ना करूँ और वह चाह कर भी इस काल्पनिक डर से बाहर नहीं निकल पाता और कष्ट झेलता रहता है ।

दोस्तो,

              यह समस्या अरविन्द की ही नहीं है, बल्कि यह एक आम समस्या है । हम सभी को अपनी-अपनी जिंदगी में इस समस्या का सामना करना ही पड़ता है । यह किसी के भी साथ हो सकता है । उचित निर्णय करना किसी भी व्यक्ति के लिए आसान काम नहीं है ।

समाधान

   इसका सीधा और सरल समाधान आपके पास ही है । सर्व-प्रथम आपको यह समझना होगा कि इस संसार में कोई भी वस्तु मुफ्त(Free) में नहीं मिलती है । यदि आपको कुछ चाहिए तो आपको उसकी कीमत चुकानी ही होगी और रही बात Risk की तो उसके बारे में इतना ही कहा गया है की……

No Gain Without Pain

दोस्तो,

 निर्णय – उचित निर्णय लेना एक कला है । ऐसा कहा जाता है की

उचित निर्णय – उचित परिणाम

अनुचित निर्णय – अनुचित परिणाम

स्पष्ट है कि, हम जैसा भी निर्णय लेंगें, परिणाम भी उसी के अनुरूप प्राप्त होगा ।

उचित निर्णय लेने की प्रक्रिया : Process of taking Right Decision   

सबसे पहले आपको खुद से यह तय करना होगा कि…..

  • आप क्या पाना चाहते हो ? – लक्ष्य तय करना होगा !
  • इसके बाद आपको अपने लक्ष्य का सबसे उज्जवल पक्ष (Bright Side) को देखना होगा !
  • और साथ ही साथ आपको उसका सबसे निचला पक्ष (बुरे से बुरा – Dark Side) को जानना होगा !

दोनों पक्षों को जानने और समझने के बाद अब आपको स्वयं से यह पूछना होगा की यदि आप अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में काम करते हैं और यदि आपको उसका निचला पक्ष (बुरे से बुरा – Dark Side) प्राप्त होता है तो क्या वो आपको स्वीकार होगा ???

यदि आपका जबाब हाँ है – तो आप अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में पूरी ताकत के साथ आगे बढ़ जाएं । दुनिया की कोई भी शक्ति आपको अपने लक्ष्य हासिल करने से नहीं रोक सकती ।

लेकिन यदि – आपका जबाब नहीं है, तो आपको अपने लिए कोई और लक्ष्य चुनना चाहिए और फिर दोबारा निर्णय लेने की प्रक्रिया दोहरानी चाहये ।

अरविन्द ने इस कला को अपने जीवन में अपनाया और अपने सपने को हकीकत में बदल दिया ।

कैसे ???

अरविन्द – जो कपडे का Show-Room खोलना चाहता है,

अरविन्द का लक्ष्य : कपडे का Show-Room

उसका सबसे उज्जवल पक्ष (Bright Side) : यदि वो अपना लक्ष्य प्राप्त कर लेगा तो वह एक शानदार और आज़ाद जीवन का मालिक बन जाएगा । वो अपनी जिंदगी को जैसे चाहेगा वैसे जी सकता है ।

निचला पक्ष (Dark Side) : यदि वो अपना लक्ष्य प्राप्त नहीं कर पाया तो….

उसकी जमा पूंजी डूब जाएगी । यह भी संभव है की लोग उसकी हँसी बनायें ।

और उसे फिर से एक नए सिरे से अपनी जिंदगी को शुरू करना पड़े ।

       अरविन्द को निचला पक्ष (Dark Side) स्वीकार था । उसने सोचा कि यदि वह सफल हो गया तो वह जो जीवन जीना चाहता है उससे भी शानदार जीवन जी सकेगा और यदि असफल हो गया तो… क्या हुआ ? फिर दोबारा Clerk की नौकरी कर लूँगा । जैसी जिंदगी अभी जी रहा हूँ फिर से जी लूँगा ।

उसने सोचा की जिंदगी भर खुद से शिकायत करते रहने से अच्छा  है की क्यूँ न एक कोशिश की जाए ।

उसने Business करने का निर्णय लिया और अपने काम में जुट गया ।

       अरविन्द ने नौकरी के साथ-साथ एक कपडे के Show-Room पर Part-Time काम शुरू कर दिया, धीरे-धीरे वह इस काम के बारे में काफी कुछ सीख गया । जब अरविन्द को यह विश्वास हो गया कि वो यह काम कर सकता है, तो उसने एक छोटी कपडे की दुकान खोल ली और छोटे स्तर से काम शुरू कर दिया । काम अच्छा चलने लगा ।  समय बीतता गया । कुछ समय बाद अरविन्द ने कपड़ों का एक Show-Room खोल लिया ।

       इस तरह उचित निर्णय लेकर एक Clerk आज एक बड़े Show-Room का मालिक बन गया ।

कल तक जो व्यक्ति एक कंपनी में Clerk का काम करता था आज वो एक Show-Room का मालिक है, और आज उसकी दूकान में 20 लोगों का staff काम कर रहा है । आज वह पूरी तरह से आज़ाद है और एक शानदार जीवन का मालिक भी ।

दोस्तो,

   यह कमाल है – एक उचित निर्णय का

यहाँ आप देख सकते हैं की : कैसे एक उचित निर्णय एक सामान्य इंसान की जिंदगी बदल सकता है ? आपकी पूरी जिंदगी पूरी तरह से आपके निर्णयों पर ही निर्भर होती है ।  

दोस्तों,

  निर्णय लेने की इस कला को आप किसी भी समय, किसी भी परिस्थिति में अपना सकते हो और जीवन के हर क्षेत्र में अपनी सफलता सुनिश्चित कर सकते हो ।

आप इसके द्वारा बड़ी ही आसानी के साथ एक आज़ाद और Fearless Life पा सकते हो और अपनी जिंदगी को वैसा बना सकते हो जैसा की आप वाकई में बनाना चाहते हो ।

 

आपकी बेहतर और शानदार जिंदगी का आकांक्षी………..

 

आपका अपना दोस्त

प्रणव भारद्वाज


 खुला आमंत्रण


दोस्तो, 
        यदि, आपके पास Hindi/English या Hinglish में कोई  motivational story, article, कविता, idea, essay, real life experience या कोई जानकारी  या  कुछ  भी ऐसा जिसे पढ़कर कुछ अच्छी सीख मिले ( चाहें वो आपके अपने मन से वयक्त किये गए हों या आपने कहीं पढ़े हों ) ……………… 

        जिसे आप हमसे share करना चाहते हैं ।

        तो, आप अपना कंटेंट (content) मुझे  info@motivatemyindia.com  पर mail कर सकते हैं  आपसे अनुरोध है कि (content) के साथ अपना एक फोटो भी भेजें।

        पसंद आने पर आपका कंटेंट जल्दी ही आपकी फोटो के साथ पर आपकी अपनी website www.motivatemyindia.com प्रकाशित कर दिया जाएगा ।  

धन्यवाद!!!

 

TAGS
RELATED POSTS

1 Comment on सही निर्णय : कैसे करें ???

reshu said : Guest Report one year ago

nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked