PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

jo-hota-hai
Inspirational StoryMaan Ki BaatSelf Improvment

Jo Hota Hai ! Achche Ke Liye Hota Hai !

By on April 11th, 2016

जो होता है ! अच्छे के लिए होता है !!

 

दोस्तो,

        बहुत पुरानी बात है, एक गाँव के किनारे एक आश्रम था । आश्रम में एक गुरु जी रहते थे । वह अपने सत्संग द्वारा गाँव के लोगों को जीवन-उपयोगी बातें बताते थे,  और लोगों में जीवन के प्रति उत्साह का संचार करते थे । गाँव के लोग गुरु जी का बहुत सम्मान करते थे ।

        गुरु जी की बातें सुनकर, एक नौजवान युवक बहुत प्रभावित हुआ । उसने गुरु जी की सेवा करने का निश्चय किया और गुरु जी के साथ ही उनके आश्रम में रहने लगा ।  वह गुरु जी की बहुत सेवा किया करता था । उसकी सेवा-भाव से खुश होकर गुरु जी ने उसे अपना शिष्य बना लिया ।

गाँव वाले गुरु जी के स्वभाव और व्यवहार से बहुत प्रसन्न रहते थे, और समय-समय पर गुरु जी को राशन-पानी दे जाया करते थे ।

एक बार गाँव का एक किसान आश्रम आया और शिष्य को अपनी गाय दे गया ।  

गुरु जी उस समय भ्रमण पर गये थे, जब गुरु जी वापस आये तो शिष्य ने उन्हें गाय वाली बात बतायी ।  

         यह सुनकर गुरु जी ने कहा “ पुत्र ! यह तो बहुत अच्छी बात है । गाय की मन लगाकर सेवा करो । इससे हमें गाय का ताजा दूध मिलेगा । गाय का दूध सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है । किसान ने हमें यह गाय दी, इसके लिए किसान का बहुत-बहुत आभार !

शिष्य गाय की सेवा करने लगा । वह गाय का स्थान साफ-सुथरा रखता, और गाय के खान-पान का पूरा ख़याल रखता था । गाय से प्राप्त दूध, गुरु और शिष्य के लिए पर्याप्त होता था । शिष्य बहुत प्रसन्न था ।

         कुछ दिनों बाद किसान फिर आश्रम आया, और अपनी गाय वापस ले गया । शिष्य ने जब यह बात गुरु जी को बतायी, तो गुरु जी जरा भी विचलित नहीं हुए ।  

         उन्होंने कहा “ पुत्र ! यह तो, और भी अच्छी बात है । अब तुम्हे गाय का गोबर साफ  करने से मुक्ति मिलेगी और उसकी देख-भाल भी नही करनी पड़ेगी । किसान अपनी गाय वापस ले गया, इसके लिए किसान का दिल से आभार ।

         शिष्य बहुत दुखी था, उसने गुरु जी से कहा “ मैंने गाय की दिन रात सेवा की । उसका पूरा ख़याल रखा । अब जब सब कुछ अच्छा चल रहा था, तो किसान को अपनी गाय वापस नहीं ले जानी चाहिए थी इतना कहते-कहते शिष्य उदास हो गया ।

         गुरु जी शिष्य के मन की बेचैनी समझ गये । उन्होंने समझाते हुए कहा “ पुत्र ! जब तक गाय हमारे आश्रम में रही, तुम बहुत प्रसन्न थे । तुमने उसकी बहुत सेवा की और उसके बदले में गाय ने तुम्हे दूध दिया । अब जब किसान, अपनी गाय वापस ले गया, तो दुःख किस बात का ???

         पुत्र ! यह जीवन है । सुख-दुःख जीवन के दो पहलू हैं । हमे सुख में ज्यादा खुश और दुःख में ज्यादा दु:खी नही होना चाहिए । हमें सुख-दुःख को एक समान भाव से स्वीकार करना चाहिए तभी हम सुखी और सफल जीवन जी सकते हैं

दोस्तो,

         हमारे साथ भी तो यही होता है । जब हमारे साथ कुछ गलत हो जाता है, या कुछ ऐसा हो जाता है जो हमे पसंद नही होता । तो, हम दु:खी हो जाते है, और  सोचते हैं कि……..

  • मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है ?
  • क्या मेरा नसीब खराब है?
  • यदि ऐसा हो जाता ! तो किसी का क्या बिगड जाता ?

                       मतलब, हम चाहते है कि हम जैसा चाहें, हमे वैसा ही परिणाम मिले । और यदि परिणाम हमारे अनुकूल नहीं तो हम निराश हो जाते हैं ।

दोस्तो,

     यहाँ यह बात समझना आवश्यक है कि, यह जिन्दगी परमात्मा का दिया हुआ अनमोल तोहफा है, और हमारी यह जिंदगी परमात्मा के द्वारा ही संचालित है ।

 

परमात्मा, वो नही करते हैं ! जो हमें अच्छा लगता है !!

बल्कि परमात्मा, वो करते हैं ! जो हमारे लिए अच्छा होता है !!

 

दोस्तो,

      जब भी कोई बात/घटना या परिणाम हमारे अनुकूल न हो, तो हमे चिंता नही करनी चाहिए । हो सकता है, कि अभी ये आपको बुरा लगे पर यदि भविष्य में आप इसके बारे में सोचोगे तो आप पाओगे कि यही आपके लिए सबसे अच्छा था ।(इस बात की सच्चाई जानने के लिए आप अपने जीवन की किसी घटना को याद कर सकते हैं)

      इस विषय में एक महान व्यक्तित्व ने कहा है कि………

मैं सिर्फ Good Luck को मानता हूँ, Bad Luck नाम की इस दुनिया में कोई चीज नहीं होती, क्योंकि जो होता है ! अच्छे के लिए होता है !! इसका मतलब हमारे साथ, कुछ बुरा हो रहा है या बुरा लग रहा है तो वह बुरा है नहीं !  हमें वो आज बुरा लग रहा है, पर आगे आने वाले समय पर पता चलता है कि, वो भी अच्छे के लिए हुआ है।  (संदीप माहेश्वरी जी)

     अतः यह कहा जा सकता है की कुछ भी बुरा नहीं होता क्योंकि…….

           जो होता है ! अच्छे के लिए होता है !!

  आइये ! जीवन के प्रत्येक क्षण को पूरी शिद्दत के साथ जीयें और अपने जीवन को सुखी, सफल और खुश-हाल बनायें ।

 

आपके सुखी & सफल जीवन का आकांक्षी……

आपका अपना दोस्त,

Pranav Bhardwaj


खुला आमंत्रण


दोस्तो, 
        यदि, आपके पास Hindi/English या Hinglish में कोई  motivational story, article, कविता, idea, essay, real life experience या कोई जानकारी  या  कुछ  भी ऐसा जिसे पढ़कर कुछ अच्छी सीख मिले ( चाहें वो आपके अपने मन से वयक्त किये गए हों या आपने कहीं पढ़े हों ) ……………… 

        जिसे आप हमसे share करना चाहते हैं ।

        तो, आप अपना कंटेंट (content) मुझे  info@motivatemyindia.com  पर mail कर सकते हैं  आपसे अनुरोध है कि (content) के साथ अपना एक फोटो भी भेजें।

        पसंद आने पर आपका कंटेंट जल्दी ही आपकी फोटो के साथ पर आपकी अपनी website www.motivatemyindia.com प्रकाशित कर दिया जाएगा ।  

धन्यवाद!!!

 

TAGS
RELATED POSTS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked