PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

kal-kya-hoga
Artical HindiMaan Ki BaatSelf Improvment

Kal Kya Hoga ? ? ?

By on March 9th, 2016

 

कल क्या होगा ???

 

दोस्तो,

कल्पना करो कि आप अपनी कार से एक स्थान से दूसरे स्थान जा रहे हैं, (उदहारण के लिए : आप दिल्ली से 200 km. दूर आगरा जा रहे हो) । रात का समय है, मार्ग में घनघोर अँधेरा है । क्या यह संभव है कि, आप अपनी कार की रौशनी से दिल्ली से आगरा 200 km. लंबे मार्ग को एक साथ एक बार में देख पाओ ?

क्या यह संभव है कि दिल्ली से आगरा तक की यात्रा शुरू करने के लिए आप अपनी कार स्टार्ट(start) करें और कार की रौशनी से एक साथ ही यह देख पायें कि आगरा तक कितने मोड़ हैं ? सड़क पर कितने स्पीड ब्रेकर हैं ? trafic कैसा है?

क्या ऐसा संभव है कि आप कार की speed बहुत अधिक कर दें ताकि इतनी रौशनी हो जाए कि आप दिल्ली से सीधा आगरा को देख पायें ?

कहने का तात्पर्य यह है कि क्या कोई ऐसा माध्यम/तरीका है ? जिससे आप दिल्ली से एक साथ एक ही बार में आगरा तक का पूरा रास्ता (200 km. लम्बा) अपनी कार की रौशनी से एक साथ देख पाओ?

 

नहीं, बिलकुल भी नहीं

 

यदि आप कार  की गति/speed को अधिक करेंगे तो संभव है कि आप कार  से अपना नियंत्रण ही खो दें, और आप अपने लक्ष्य को कभी हासिल ही न कर पायें ।

वास्तविकता (Reality)

दोस्तो,

उपरोक्त उदाहरण से स्पष्ट है, कि यदि आप चाहें भी तो आप अपनी कार की रौशनी से पूरा रास्ता एक बार में, एक साथ नहीं देख सकते । वास्तविकता यह है कि आप अपनी कार की रौशनी से एक निश्चित समय में, एक निश्चित दूरी तक ही देख सकते हैं और जैसे-जैसे आपकी कार आगे बढती जाती है रौशनी भी आगे बढती जाती है, और इस तरह से आप निश्चित समय में दिल्ली से आगरा पहुँच जाते हैं ।

दोस्तों,

 हमारी जिंदगी में, ऐसा ही तो होता है । हम जीवन में भी यही गलती करते हैं, हम अपनी पूरी जिंदगी को एक बार में ही देखना/जानना चाहते हैं । मतलब हम यह चाहते हैं, कि हम अपना भविष्य पहले से ही जान लें । हमारी उत्सुकता यही रहती है कि हम कैसे भी यह जान लें कि हमारे आने वाले कल में क्या होगा ? अब से 10 वर्ष / 20वर्ष / ……वर्ष  बाद हमारे साथ क्या होगा? पर यह भूल जाते हैं कि, जैसे कार के उदाहरण में पूरा रास्ता एक बार में/ एक साथ देखना असंभव है, वैसे ही हम अपनी पूरी जीवन यात्रा को एक बार/एक साथ नहीं देख सकते……यह भी पूरी तरह से असंभव है ।

हम अक्सर भविष्य के बारे में ज्यादा/बहुत ज्यादा सोचते हैं । हम अक्सर इसी सोच में डूबे रहते हैं कि आने वाले कल में क्या होगा? भविष्य में यह हो गया……तो क्या होगा? वो हो गया….. तो क्या होगा ?

और इसी सोच के कारण अपने अति मूल्यवान वर्तमान को गँवा देते हैं । अपने आप को उन सवालों के जबाब में उलझा लेते हैं जिनके जबाब हमारे हाथ में हैं ही नहीं । और हर समय एक डर के माहौल में रहते हैं । जब निर्णय लेने का अवसर होता है / जब काम करने का समय होता है तो हम if/but (अगर/मगर)में उलझे रहते है और जब वह सुनहरा अवसर/समय निकल जाता है, तो इस सोच में  हम अपना समय बर्बाद कर देते हैं कि काश ! मैं यह निर्णय ले लेता / काश ! मैं उस समय अपना काम अच्छे से कर लेता तो आज …………..????

तो, इस प्रश्न का उचित समाधान क्या है?

समाधान

दोस्तो,

आने वाले वर्षों में क्या होगा ? हम यह नहीं जानते…….

कल क्या होगा ? / क्या होने वाला है ? ….. हम यह भी नहीं जानते……..

यदि हम चाहें भी तो भी नहीं जान सकते…..

हम क्या कोई भी यह नहीं जानता/ और न ही जान सकता है !

जब हम अगले पल में  क्या होगा ? यह जान ही नहीं सकते और उस पर हमारा कोई नियंत्रण भी नहीं है…….. यह सच हम जितनी जल्दी स्वीकार कर लें, हमारे लिए यह उतना ही अच्छा रहेगा ।

दोस्तों,

हम केवल इतना कर सकते हैं कि जो हमारे हाथ में है / जिस पर हमारा पूरा नियंत्रण है / अर्थात हम अपने वर्तमान को बेहतरीन बना सकते हैं । हम अपने आज को अपनी जिंदगी का सर्वश्रेष्ठ पल बना सकते हैं । हम अपने आज को खुल कर जी सकते हैं । हम अपने आज में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं । हम अपने आज को जैसे चाहें वैसे जी सकते हैं …..पूरी आज़ादी के साथ, सुकून के साथ, ख़ुशी के साथ………..

दोस्तों,

 जब हम अपने आज में इतना कुछ कर सकते हैं तो हम उन चीजों के बारे में क्यों सोचें जहाँ हमारा कोई नियंत्रण है ही नहीं । हम क्यों न अपने वर्तमान को पूरी ख़ुशी से जीयें । हम क्यों सोचें भविष्य के बारे में ………..क्यों न हम अपने आज को जीयें जो पूरी तरह से हमारा है, जिस पर हमारा पूरा अधिकार है । 

दोस्तों

आपको सिर्फ इतना करना है कि आप अपनी जिंदगी में एक लक्ष्य तय करें । लक्ष्य तय करने में विशेष सावधानी बरतें । पूरी ईमानदारी से अपना आंकलन करें और एक लक्ष्य तय करें । वो लक्ष्य पूरी तरह से आपका अपना हो, और आप उस लक्ष्य के ।  फिर उसका एक सुन्दर चित्र अपने मन में बनायें और एक निश्चित गति/निरंतरता के साथ अपने लक्ष्य को पूरी इमानदारी से पाने की कोशिश करें । उस लक्ष्य को जीयें, उसमें खो जाएँ और जब तक न रुकें जब तक आप अपने लक्ष्य को प्राप्त न कर लें ।

जीवन में सफल होने के लिए यह अति आवश्यक है की आप अपनी नजर निरंतर अपने लक्ष्य पर बनाये रखें ताकि आप अपना रास्ता न भटक जाएँ पर उससे भी अति आवश्यक यह है कि आप अपने वर्तमान का पूर्ण सदुपयोग करें । वर्तमान में लक्ष्य को पाने की दिशा में एक निरंतरता के साथ पूरी ईमानदारी से आगे बढ़ने का प्रयास करें।  

आप यह जानने की कोशिश न करें, कि आपके आने वाले कल में क्या होगा? बल्कि आप यह सुनिश्चित करें कि आपके पास जो कुछ भी है, वो केवल और केवल आज है और आप अपने आज को बेहतर बनायेंगे, आप अपने आज को सर्वश्रेष्ठ बनायेंगे । आप अपने आज को अपने जीवन का सबसे बेहतरीन पल बना देंगे और हर हाल में अपना लक्ष्य पाकर ही रहेंगे ।  

दोस्तों, आपकी परिस्थितियां चाहें कैसे भी क्यों न हों, आपको अपने वर्तमान को आनंदपूर्वक जीना होगा । रास्ते/ जीवन यात्रा का आनंद लेना होगा । आप सब कुछ एक साथ नहीं कर सकते/ नहीं जान सकते पर आपको एक नियत गति के साथ, पूरे धैर्य से, पूरे उत्साह से लक्ष्य की तरफ आगे बढ़ना होगा । किसी भी परिस्थिति में आपको अपना धैर्य नहीं खोना है, गति उतनी ही रखनी है जितनी आवश्यक है, और दृढ़ता पूर्वक अपने लक्ष्य को पाना है ।

यही सफलता का राज है ।

अगर आप यह छोटा पर अति महत्वपूर्ण नियम अपने जीवन में अपनाओगे तो आपकी सफलता सुनिश्चित है ।

 

दोस्तों

    आपका आज बेहतर हो और आने वाला कल बेहतरीन, इन्हीं शुभकामनाओं के साथ………………

आपका अपना दोस्त

प्रणव कुमार भारद्वाज

 


खुला आमंत्रण


 

दोस्तो, 
        यदि, आपके पास Hindi/English या Hinglish में कोई  motivational story, article, कविता, idea, essay, real life experience या कोई जानकारी  या  कुछ  भी ऐसा जिसे पढ़कर कुछ अच्छी सीख मिले ( चाहें वो आपके अपने मन से वयक्त किये गए हों या आपने कहीं पढ़े हों ) ……………… 

        जिसे आप हमसे share करना चाहते हैं ।

        तो, आप अपना कंटेंट (content) मुझे  info@motivatemyindia.com  पर mail कर सकते हैं  आपसे अनुरोध है कि (content) के साथ अपना एक फोटो भी भेजें।

        पसंद आने पर आपका कंटेंट जल्दी ही आपकी फोटो के साथ पर आपकी अपनी website www.motivatemyindia.com प्रकाशित कर दिया जाएगा ।  

 

धन्यवाद!!!

 

TAGS
RELATED POSTS

2 Comments on Kal Kya Hoga ? ? ?

Vinod jain said : Guest Report one year ago

बहुत सुन्दर व्याख्या की है प्रणव जी आपने सच में वर्तमान क्षण अनमोल है जिसने इसको जीना सीख लिया उसी का जीवन सफल है।

reshu sharma said : Guest Report one year ago

.....very nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked