PRANAV BHARDWAJ
Motivational Speaker / Writer

दोस्तो, मेरी हमेशा से यही कोशिश रही कि मैं कुछ ऐसा करूँ, जिससे देश/समाज में रचनात्मक व सकारात्मक परिवर्तन (Creative & Positive change) आ सके। मैंने अपनी इसी सोच के तहत परम पिता परमेश्वर के आशीर्वाद से यह website बनायी है.......

Read More....

Like Us On Face Book Page
Man stands between boulders on summit, arms out
LifeMaan Ki BaatPower Of ThinkingSelf Improvment

हमारे अन्दर की चिंगारी …………………

By on December 27th, 2015

दोस्तो,

        मेरा मानना है कि, हम सभी के अन्दर एक चिंगारी होती है, जो हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है, एक जूनून होता है, आँखों में कुछ करने के, कुछ पाने के सपने होते हैं, कुछ कर गुजरने की चाहत होती है

        पर समय के साथ – साथ ये सब चीजें धुंधली होती जाती हैं, हम परिस्थितियों के सामने आत्म समर्पण (surrender) कर देते हैं और अपनी परिस्थितियों को ही अपना भाग्य मानकर, हम अपनी जिंदगी को जीने लगते हैं (सही कहूँ तो जीवन का समय काटते हैं…..)।  

        मेरी इन बातों को ठीक से समझने के लिए हमें अपने बचपन को याद करना होगा………………..

दोस्तो,

        जब हम अपने बचपन में थे तो हमारे माँ-पापा या घर के बड़े लोग हमको सिखाते थे/बताते थे कि बेटा/बेटी बड़े होकर आपको डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना है, और ये बातें हमको दिन में कई बार समझाई जाती थी . जब भी घर पर कोई मेहमान आता तो हमसे पूछा जाता कि  ………….बेटा/बेटी बड़े होकर क्या बनोगे???????

       और हम बड़े इठला के और ख़ुशी के साथ वो ही रटा रटाया जबाब देते ।

घर के सभी लोग बहुत खुश होते।  वो हमारे अन्दर अपने सपने सच करने की हसरत पालते (वो ये सोचते थे कि जो मैं नहीं कर पाया/यी वो मेरा बेटा/बेटी जरुर करेगा/गी ।  मैं अपने बच्चों के सहारे अपने सब सपने सच कर लूँगा/गी)

       लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया और जब हम 10th ya 12th में आये हमारे सपने केवल सपने ही रह जाते हैं  ।   

दोस्तों,

                                          ऐसा क्या हुआ ????????????

      कि जब हम छोटे थे तो वो सब चीजें हमें और हमारे घरवालों को बहुत आसान  लगती थी लेकिन जब हम उन चीजों को पाने के योग्य हुए तो वही आसान सी चीजें हमें नामुमकिन लगने लगी ।

      अब हम उनको पाने के बजाय अपने आप को समझाने लगे……………

  • अरे, मेरा तो नसीब ही ख़राब है ।
  • डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना बड़े लोगों की बात होती है ।
  • मैं तो इतना योग्य भी नहीं ।   
  • भाई  हमारे घर से तो आज तक कोई इतना बड़ा न बना तो मैं कैसे???????
  • और न जाने कितने अनगिनत बहाने……………….

दोस्तों,

      ये सोचने वाली बात है की आखिर ऐसा क्या हुआ कि ………

  • हमारे सपने हमसे काफी बड़े हो गये?
  • हम आगे बढ़ने के बजाय अपने आप को समझाने लगे?
  • वो कौन सी वजह रही जिन्होंने हमें खुद में ही कमजोर बना दिया और हमें ये मानने को विवश कर दिया कि डॉक्टर/ इंजिनियर /आईएस /पायलट या एक बड़ा आदमी बनना तुम्हारे बस की बात नहीं.
  • बेटा/ बेटी तुमसे न हो पायेगा ।
  • और हम और हमारे घरवाले ये मान बैठे की यदि हम थोड़ा बहुत पढ़ कर कोई प्राइवेट नौकरी (private job) कर लें,  और इस महगाई के ज़माने में अपना घर चला लें  ……………….हमारे लिए वो ही काफी है ।   

समस्या

दोस्तो,

      इसका केवल और केवल एक ही कारण है कि…………..

आत्म विश्वास की कमी /स्वयं पर यकीन न करना

(lack of self confidence)

दोस्तो,

      ये आपकी ही नहीं बल्कि हमारे समाज /देश के लाखों/ करोणों लोगों की सबसे बड़ी समस्या है । इसके कारण हमारे देश को दिन प्रति दिन कितनी भारी क्षति हो रही है इसकी कल्पना करना भी मुश्किल है । 

समाधान

दोस्तो,

      आपके अन्दर की चिंगारी हमेशा जलती रहे (आपका आत्म विश्वास पर्वत की तरह गहरा और मजबूत बनाने में ) आपकी अपनी website www.motivatemyindia.com एक शशक्त और महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है ।

 

      हमारी website का असली मकसद………..

  1. आपको अपने आप को जानने /पहचानने/ समझने में मदद करना ।
  2. आपको ये बताने में मदद करना की आप वाकई में चाहते क्या हैं?
  3. आपकी क्या शक्ति/कमजोरी (strength/weakness)हैं? आप अपनी कमजोरी को कैसे अपनी ताकत में बदल सकते हो?
  4. आपको इस बात के लिए प्रेरित करना की आपके इस अमूल्य जीवन का मकसद क्या है? और आप इसे कैसे हासिल कर सकते हैं?
  5. आपकी सोच को इस तरह से विकसित करना ताकि आप ये अच्छे से जान सकें की आपके लिए सही क्या और गलत क्या?
  6. आपको मन से हर तरह का डर ख़तम करके आपको निडर बनाना।
  7. आपकी निर्णय क्षमता को निखारना ताकि आप अच्छे व दूरदर्शी निर्णय ले सकें ।
  8. आपको ये विश्वास दिलाना कि आप इस दुनिया में असाधारण (unique)प्रतिभा के धनी हैं. आपका कोई भी substitute (विकल्प) नहीं हैं आप जो चाहो आप वो पा सकते हो ।
  9. आप परम पिता परमेश्वर की संतान हो और आप किसी से भी किसी भी तरह से कम नहीं हो ।
  10. आपको अपने ऊपर अटूट विश्वास करने में मदद करना ।
  11. आपको जीवन के हर पहलु में हर तरह से शशक्त बनाना ।
  12. Continue……………………

                   तो यहाँ मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि………..

                                                 आपकी ये WEBSITE इस समस्या (स्वयं पर यकीन न करना- lack of      self confidence) को हमेशा हमेशा के लिए खत्म कर देगी ।

                                                और आप पूरे आत्म-विश्वास के साथ अपनी जिंदगी को अपनी शर्तों पर  जियेंगे । आपके अन्दर की चिंगारी इतनी शशक्त और प्रभावशाली हो जाएगी, जिससे आपका अपने ऊपर ऐसा अटूट विश्वास होगा कि आप प्रतिकूल से प्रतिकूल परिस्थितियों में भी पूरे साहस के साथ यह कहेंगे कि…………

         “ सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है,   

                                        देखना है जोर कितना बाजु-ऐ-परिस्थितियों में है ”

             आप अपने अटूट आत्म-विश्वास से प्रतिकूल परिस्थिति को भी अपने लिए एक सुनहरा अवसर बना लेंगे ।

            मुझे पूरा विश्वास है की आप जीवन के हर दौर में एक नायक बनकर उभरोगे और आप वो सब कुछ पा लोगे जो आप वाकई में पाना चाहते हो या उससे कहीं बहुत ज्यादा………………

                                                                                       इन्हीं शुभकामनाओं के साथ………………..

                                        आपका अपना दोस्त

                                           Pranav Bhardwaj  

 


खुला आमंत्रण

दोस्तो, 
        यदि, आपके पास Hindi/English या Hinglish में कोई  motivational story, article, कविता, idea, essay, real life experience या कोई जानकारी  या  कुछ  भी ऐसा जिसे पढ़कर कुछ अच्छी सीख मिले ( चाहें वो आपके अपने मन से वयक्त किये गए हों या आपने कहीं पढ़े हों ) ……………… 

        जिसे आप हमसे share करना चाहते हैं ।

        तो, आप अपना कंटेंट (content) मुझे  info@motivatemyindia.com  पर mail कर सकते हैं  आपसे अनुरोध है कि (content) के साथ अपना एक फोटो भी भेजें।

        पसंद आने पर आपका कंटेंट जल्दी ही आपकी फोटो के साथ पर आपकी अपनी website www.motivatemyindia.com प्रकाशित कर दिया जाएगा ।  

धन्यवाद!!!

TAGS

December 27, 2015

December 27, 2015

RELATED POSTS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked